उज्जैन तड़का

आयोग को दी गलत जानकारी, लोक सूचना अधिकारी पर जुर्माना

-ननि में पदस्थ तात्कालीन अधिकारी मंडलोई पर हुई कार्रवाई

धमेन्द्र भाटी, विशेष संवाददाता

उज्जैन। सूचना के अधिकार के अंतर्गत मांगी गई जानकारी नही देने और लोक सूचना आयोग को गलत जानकारी भेजने के मामले में आयोग द्वारा नगर निगम के तात्कालीन लोक सूचना अधिकारी आरएस मंडलोई के खिलाफ कार्यवाही करते हुए 25 हजार रूपए का जुर्माना किया गया है।
उल्लेखनीय है कि भागसीपुरा निवासी वरूण पंड्या द्वारा सूचना के अधिकार के अंतर्गत झोन क्रमांक तीन से कुछ जानकारी मांगी गई थी, लंबे समय तक जानकारी जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा तय समय सीमा में नहीं देने पर उन्होंने इसकी शिकायत लोक सूचना अधिकारी से लेकर राज्य सूचना आयुक्त तक की थी। जब राज्य सूचना आयोग भोपाल के आयुक्त डॉ. जी कृष्णमूर्ति तक शिकायत पहुंची तो उन्होंने अपने स्तर पर इस मामले की जांच पड़ताल की तो पता चला कि लोक सूचना अधिकारी झोन क्रमांक तीन आरएस मंडलोई द्वारा आयोग को गुमराह करते हुए झूठी जानकारी भेजी जा रही है। सूत्र बताते है कि आयोग द्वारा 6 दिसंबर 2017 को पारित आदेश में आर.एस. मण्डलोई तत्कालीन लोक सचना अधिकारी, नगर पालिक निगम के विरूद्ध कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया था। तत्पश्चात मण्डलोई द्वारा दशार्यी गई जानकारी के अनुसार झोन क्रमांक 3 के महेन्द्र कछवाय को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया था। पिछले दो वर्षों में विभिन्न तिथियों में महेन्द्र कछवाय को कारण बताओ सूचना पत्र की सुनवाई में आहूत किया जा रहा था एवं उनके बारे में जानकारी चाही जा रही थी।

जांच में सामने आया सच

आयोग द्वारा 12 अप्रैल 2019 को नियत व्यक्तिगत सुनवाई में आदेश पारित कर तत्कालीन लोक सूचना अधिकारी आरएस मण्डलोई एवं कछवाय को जारी कारण बताओ सूचना पत्र पर कार्यवाही लंबित रखी गई थी। विस्तृत छानबीन के बाद लोक सूचना अधिकारी झोन क्रमांक 3 एवं आयुक्त, नगर पालिक निगम द्वारा स्पष्ट प्रतिवेदन एवं शपथ-पत्र दिनांक 24 जून 2019 के माध्यम से आयोग को अवगत कराया गया कि महेन्द्र कछवाय नाम का कोई भी कर्मचारी-अधिकारी कभी भी नगर पालिक निगम में पदस्थ नहीं पाया गया। मण्डलोई द्वारा आयोग के समक्ष गलत एवं भ्रामक जानकारी दी गई।

ये भी पढ़े  पेट्रोल पंप मैनेजर को लूटने वाले 6 आरोपी गिरफ्तार । 6 accused arrested for robbing petrol pump manager

उज्जैन से धार हो गया था स्थानांतरण

आरएस मण्डलोई वर्ष 2017 से परियोजना अधिकारी, जिला शहरी विकास अभिकरण, धार में पदस्थ है। जिस पर आयोग द्वारा मण्डलोई को अधिनियम की धारा 7 के अनुरूप अपीलार्थी को जानकारी न देने का दोषी पाते हुए। उनके द्वारा अधिनियम की धारा 7 के अनुरूप अपीलार्थी वरूण पण्ड्या को समयसीमा में जानकारी न देकर गंभीर त्रुटि की गई है। जिसके बाद आयोग इसके लिये आरएस मण्डलोई को सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005 की धारा 20 (1) का दोषी मानकर उन पर राशि 25 हजार की शास्ति अधिरोपित करता है।

यह भी पढ़े…

सब्जी मंडी में लगी भीषण आग, व्यापारियों का आरोप बदमाशों ने की हरकत

दुर्लभ कश्यप गैंग के बदमाशों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.