उज्जैन तड़का

उज्जैन लॉकडाउन ने ली इंजीनियर की जान

ब्रिज के पिलर पर बंधे फंदे पर लटका मिला इंजीनियर का शव

whatsaap

हाईलाईट

  • ब्रिज के पिलर पर रस्सी बांधकर बनाया फंदा

  • घर से कई किमी दूर जाकर की आत्महत्या

  • मुंबई में अड़ाणी ग्रुप कंपनी में थी नौकरी

  • पुलिस को नहीं मिला सूसाइड नोट

  • लॉकडाउन में चली गई थी नौकरी

उज्जैन की विवेकानंद नगर कॉलोनी में रहने वाले एक इंजीनियर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि लॉकडाउन के कारण इंजीनियर की नौकरी छूट गई थी।

उज्जैन। Tue-20 july 2021

चिंतामन ब्रिज के नीचे मंगलवार सुबह राह चलते लोगों ने ब्रिज के पिलर से बंधे रस्सी के फंदे से लटका हुआ एक शव देखा और पुलिस को सूचना दी। मृतक के पास मिले दस्तावेज और समीप खड़ी बाइक के आधार पर उसकी पहचान विवेकानंद नगर कॉलोनी निवासी इंजीनियर के रूप में की गई।

चिंतामन थाना पुलिस ने बताया कि विवेकानंद कॉलोनी निवासी संजय कुमार पिता शंकरलाल पाराशर 51 साल लॉकडाउन के पहले तक अड़ाणी ग्रुप आॅफ कंपनी में इंजीनियर के पद पर पदस्थ था। लेकिन लॉकडाउन के दौरान उनकी नौकरी चली गई। जिसके कारण इंजीनियर अपने घर उज्जैन लौट आया। मंगलवार सुबह इंजीनियर का शव फांसी के फंदे पर लटका हुआ मिला। पुलिस के अनुसार नौकरी जाने से इंजीनियर काफी दिनों से परेशान चल रहा था। संभवत: इंजीनियर द्वारा इसी बात से क्षुब्ध होकर आत्महत्या कर ली। फिलहाल मामला जांच में है।

लोगों ने दी सूचना

मंगलवार सुबह चिंतामन ब्रिज के पिलर पर बंधी रस्सी के फंदे से राह चलते लोगों ने एक व्यक्ति का शव लटका हुआ देखा। जिसके बाद चिंतामन थाना पुलिस को इसकी सूचना दी गई मौके पर पहुंचे एएसआई राधेश्याम भांवर ने बताया कि मृतक के पास मिलेगा दस्तावेज पर उनका पता मुंबई लिखा हुआ था। किंतु बाइक उज्जैन की जी। पड़ताल करने पर सामने आया कि मृतक इंजीनियर हैं और उज्जैन में ही रहते हैं।

दस्तावेजों से हुई शिनाख्ती

पुलिस ने बताया कि इंजीनियर संजय पाराशर के शव के पेंट की जेब की तलाशी लेने पर उसमें से विजिटिंग कार्ड आधार कार्ड बस का टिकट सहित अन्य दस्तावेज मिले थे। आधार कार्ड पर उनका पता नवी मुंबई का था। जिसको लेकर शुरूआत में पुलिस भ्रमित हो गई थी। किंतु जब उसके मोबाइल नंबर पर संपर्क किया गया तो इंजीनियर उज्जैन का ही रहने वाला निकला। पुलिस का कहना है कि मृतक के 2 पुत्र हैं जो उज्जैन में ही रहते हैं।

यह भी है जांच का बिंदु

पुलिस अधिकारियों की माने तो उन्हें इस बात पर भी शंका है कि आखिर क्या कारण था कि इंजीनियर को घर से इतनी दूर आकर सुसाइड करना पड़ी। यही कारण है कि पुलिस आत्महत्या के अलावा दूसरे अन्य एंग्लो पर भी जांच कर रही है। पुलिस को मृतक के पास से किसी भी प्रकार का कोई सुसाइड नोट भी नहीं मिला है। हालांकि यह बात भी कही जा रही है कि नौकरी जाने से इंजीनियर काफी क्षुब्ध था। पढतें रहे thetadkanews.com  देखें खबरे हमारे यूट्यूब चेलन  the tadka news पर, जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरें, जुडिएं हमारे फेसबकु tadka news पेज से…

 

यह भी पढ़ें…

UJJAIN-वैक्सीनेशन सेंटर पर इसलिए बुलानी पड़ी पुलिस

उज्जैन में पुलिस और नगर निगम की टीम पर पथराव

फिल्मी अंदाज में पुलिस ने किया पीछा, वाहन छोड़कर भागे तस्कर

मामूली विवाद के बाद गांधीनगर में युवक की हत्या

कांग्रेस विधायक ने कहा सोनिया, प्रियंका गांधी को थी गलत फहमी

UJJAIN-पारदी गिरोह से लाखों का माल जब्त

ढाबे पर बदमाशों का उत्पात । आरक्षक की वर्दी फाडी

उज्जैन के मसाला व्यापारी के साथ लाखों की ठगी

Ujjain-अपहरण के बाद किशोर की हत्या

प्रतिबंध पर भारी आस्था, घाटों पर कई लोगों ने किया स्नान

त्रिवेणी घाट पर स्नान किया तो होगी FIR

उज्जैन में जल संकट: 2 दिन छोड़कर होगा जल प्रदाय

उज्जैन ईओडब्ल्यू EOW ने पकड़ा रिश्वतखोर ऑपरेटर

Ujjain-ब्लैक फंगस का कहर: 7 मरीजों की आंख निकाली

वैक्सीनेशन सेंटरों पर हंगामा, पुलिस ने तीन को लोगों को पकड़ा

 

Tags

Related Articles

Back to top button
Close