मप्र तड़का

मेहगांव सीट हारने के बाद भिंड कांग्रेस में मचा है घमासान, अशोक भदौरिया ने इस्तीफा दिया

मेहगांव सीट हारने के बाद से गोविंद सिंह लगातार पार्टी नेताओं के निशाने पर हैं.

अशोक भदौरिया ने गोविंद सिंह (Govind singh) के डीएनए (DNA) को ही कांग्रेस विरोधी और भाजपा का करार देते हुए कहा कि एक बार नहीं कई बार गोविंद सिंह ने जातिवाद की दुहाई देते हुए कांग्रेस की जगह भाजपा प्रत्याशी का समर्थन करने की बात कही.

भिंड. उप चुनाव में मेहगांव सीट हारने के बाद अब भिंड (Bhind) जिले में कांग्रेस (Congress) में घमासान मचा हुआ है. कांग्रेस नेता एक दूसरे पर हार का ठीकरा फोड़ रहे हैं. पार्टी जिला अध्यक्ष ने  सात बार के विधायक डॉ गोविंद सिंह पर  पार्टी के खिलाफ कार्य करने के आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित कर दिया. तो वहीं किसान कांग्रेस के प्रदेश सचिव ने इसी बात पर पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. वहीं डॉक्टर गोविंद सिंह के समर्थक पदाधिकारियों ने जिलाध्यक्ष जय श्रीराम बघेल के खिलाफ जांच कर उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की है.

कांग्रेस के कद्दावर नेता डॉक्टर गोविंद सिंह का नाम नेता प्रतिपक्ष के लिए सबसे आगे चल रहा था. लेकिन डॉक्टर गोविंद सिंह दिग्विजय सिंह गुट से आते हैं, ऐसे में उनको नेता प्रतिपक्ष की दौड़ से दूर करने के लिए कांग्रेस की अंतर्कलह खुलकर सामने आ गई थी. भिंड जिले में हाल ही में कांग्रेस के जिला अध्यक्ष जय श्रीराम बघेल ने कार्यालय में एक मीटिंग कर उसमें डॉक्टर गोविंद सिंह पर मेहगांव विधानसभा सीट हरवाने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित करने की बात कही.वहीं गुरुवार को डॉक्टर गोविंद सिंह के बेहद करीबी प्रदेश कांग्रेस कमेटी में महासचिव खिजर कुरैशी के नेतृत्व में तीन दर्जन से अधिक कांग्रेसियों ने इकट्ठा होकर मीडिया के सामने डॉक्टर गोविंद सिंह का पक्ष रखते हुए कहा कि उन्होंने कभी भी पार्टी से भितरघात नहीं किया. हमेशा पार्टी के लिए काम किया.

समर्थक आए सामने
सेवादल प्रदेशाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह भदौरिया पिंकी, डॉक्टर गोविंद सिंह के भांजे राहुल सिंह भदौरिया सहित कई पदाधिकारियों ने अलग-अलग बयान देते हुए कहा कि डॉक्टर गोविंद सिंह पर लगाए गए आरोप निराधार हैं. उन्होंने हमेशा कांग्रेस के पक्ष में वोट मांगने की बात कही.अशोक भदौरिया ने दिया इस्तीफा

इसी दौरान किसान कांग्रेस में प्रदेश सचिव रहे कांग्रेस कार्यकर्ता अशोक सिंह भदौरिया ने भी जिला अध्यक्ष द्वारा डॉक्टर गोविंद सिंह पर लगाए गए आरोपों का समर्थन करते हुए पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने गोविंद सिंह के डीएनए को ही कांग्रेस विरोधी और भाजपा का करार देते हुए कहा कि एक बार नहीं कई बार  गोविंद सिंह ने जातिवाद की दुहाई देते हुए कांग्रेस की जगह भाजपा प्रत्याशी का समर्थन करने की बात कही. लेकिन उन्होंने डॉ गोविंद सिंह की बात ना सुनते हुए पार्टी के लिए काम किया. गोविंद सिंह के कार्यकलापों से आहत होकर उन्होंने अपना इस्तीफा कांग्रेस से दिया है.

बीजेपी ने किया समर्थन
वही बीजेपी नेता रमेश दुबे ने चुटकी लेते हुए कहा है पूर्व मंत्री गोविंद सिंह और उनकी टीम कभी कांग्रेस के लिए काम नहीं करती है. हमेशा भितरघात करते हैं, मैं भी 10 साल कांग्रेस का जिला अध्यक्ष रहा हूं.




Source link

Tags

Related Articles

Back to top button
Close