मप्र तड़का

Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band प्रदेश में शराब प्रेमियों की बढ़ी मुसीबत, सरकार बनाये सख्त नियम

Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band जानिए सरकार के बदले हुए हर निर्णय की पूरी जानकारी, कहा पी आप सकते है शराब

Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band | मध्यप्रदेश सरकार ने अपनी आबकारी नीति में बदलाव करते हुए प्रदेश में शराब दुकानों पर बैठकर शराब पिलाने प्रतिबंध लग दिया। यानी दुकानों से शराब की बिक्री तो होगी, लेकिन वहां बैठकर पीने की अनुमति नहीं दी जाएगी। इसके साथ ही, प्रदेश में सभी अहाते भी बंद किए जाएंगे। जाने नई शराब नीति के हर पहलु को।

रविवार को हुई सीएम शिवराज कैबिनेट की बैठक में ये निर्णय लिया गया। Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band बैठक में नई शराब नीति पर भी चर्चा की गई। बैठक में तय किया गया कि अब धार्मिक और शैक्षणिक संस्थाओं, गर्ल्स स्कूल, गर्ल्स कॉलेज, हॉस्टल से शराब दुकान की दूरी 100 मीटर करने का प्रस्ताव मंजूर किया गया है। पहले यह दूरी 50 मीटर थी।

Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band

Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band बैठक के बाद गृहमंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि साल 2010 से प्रदेश में आज तक नई शराब दुकान नहीं खोली गई, बल्कि शराब दुकानें बंद ही की गई हैं। नर्मदा सेवा यात्रा के दौरान 64 दुकानें बंद की गई थीं। प्रदेश में अब जितने भी अहाते हैं, उन्हें बंद किया जा रहा है। इसी तरह, शॉप बार में शराब पीने की अनुमति थी। शराब दुकानों से केवल शराब की बिक्री होगी, बल्कि बैठकर शराब पीने की अनुमति नहीं होगी। शराब पीकर वाहन चलाने वालों के लाइसेंस भी सस्पेंड होंगे।

उमा भारती कर रही थी विरोध

पिछले दिनों भोपाल के अयोध्या नगर इलाके के एक मंदिर में पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने तीन दिन से डेरा डाल रखा था। वहां सुंदरकांड भी करवाया। Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band वे मंदिर के सामने स्थित शराब दुकान का विरोध कर रही थी। प्रदेश की नई शराब नीति के लिए उन्होंने कई सुझाव भी दिए थे।

ये भी पढ़े  साध्वी प्रज्ञा सिंह से ब्लैकमेलिंग । सांसद को मोबाइल पर भेजा अश्लील वीडियो

शराब दुकान में फेके थे पत्थर

photo credit google

पिछले काफी समय से पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती शराब नीति में संशोधन करने के लिए प्रयासरत हैं। इसके लिए वे लगातार अपनी ही सरकार का विरोध करती रही हैं। Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band उन्होंने भोपाल में शराब दुकान पर पत्थर फेंका था। कुछ दिन पहले मंदिर तक में डेरा डाल लिया था। यही नहीं, वे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा को पत्र तक लिखकर पीड़ा जाहिर कर चुकी हैं।

दो तरह से मिलता है लाइसेंस

  • ऑन कैटेगिरी की दुकान- ये अहाता होता है, Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band जिसमें शराब दुकान के साथ यहां बैठकर पीने की भी व्यवस्था रहती है। इसके लिए मंजूरी लेनी पड़ती है।
  • ऑफ कैटेगिरी की दुकान- ये शॉप बार होती है। यहां से शराब की बिक्री तो होती है, लेकिन पीने की व्यवस्था नहीं होती, लेकिन आबकारी विभाग को दुकान की लाइसेंस फीस का दो प्रतिशत शुल्क चुका कर यहां पीने की व्यवस्था की जा सकती है।

ये भी पढ़े शिवज्योति अर्पणम कार्यक्रम रामघाट से देखिए सीधा प्रसारण, करे महाकाल के दर्शन

रद्द होगा ड्राइविंग लाइसेंस

मध्यप्रदेश सरकार की नई आबकारी नीति 2023-24 के अनुसार Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band धार्मिक स्थल,स्कूल,छात्रावास से शराब दुकान की 50 मीटर दूरी के दायरे को बढ़ाकर 100 मीटर दूरी की गई है. वहीं वाहन चलाते वक्त शराब पिये पकड़े गए तो ड्राइविंग लाइसेंस निरस्त किये जाने का सख्त प्रावधान किया गया है.

घर पर शराब रखने की लिमिट में बदलाव नहीं

सरकार ने पिछले साल होम बार लाइसेंस देने का निर्णय लिया था। Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band इसका मतलब है अगर किसी व्यक्ति की सालाना आय एक करोड़ रुपए है, तो वह व्यक्ति घर पर होम बार खोल सकता है। इसके अलावा, घर पर शराब रखने की लिमिट 4 गुना कर दी गई थी। इससे पहले घर में एक पेटी बीयर और 6 बॉटल शराब रखने की अनुमति थी। इस बार इस नियम में बदलाव करने का प्रस्ताव भी नहीं है।

ये भी पढ़े  सीएम ने अब पत्रकारों के लिए खोला खजाना, मुख्यमंत्री ने ये ऐलान किए

बीयर की खपत 49% बढ़ी

  • मध्यप्रदेश में एक अप्रैल 2022 से शराब दुकानों का नया कंपोजिट शॉप मॉडल लागू किया गया। तभी से बीयर की खपत हर महीने नए रिकॉर्ड बना रही है।
  • सरकारी आंकड़े बताते हैं कि साल 2019-20 की तुलना में 2020-21 की तिमाही में बीयर की खपत 49% बढ़ गई है, जबकि देशी शराब की खपत 24% तो विदेशी की 30% बढ़ी है।
  • आबकारी विभाग ने 2020-21 और 2021-22 को कोविड-19 प्रभावित वर्ष मानकर इस साल की ग्रोथ की तुलना 2019-20 से की है।
  • विभागीय अधिकारियों की मानें तो देशी शराब के ग्रामीण ठेकों में बीयर पहली बार बेची जा रही है। ज्यादातर वृद्धि वहीं से आ रही है। अप्रैल 2022 में बीयर की खपत 61% तक बढ़ी है।
  • साल 2021-22 में कुल बीयर का उत्पादन 13.48 करोड़ बल्क लीटर था। 2019-20 की तुलना में यह 31% बढ़ा था।

ये भी पढ़ेमूर्ति के बीच फंस गया युवक, Video देख हैरत में पड़े लोग

देसी शराब की डिमांड बढ़ी

Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band पिछले वित्तीय वर्ष में नंवबर 2022 तक 12 करोड़ प्रूफ लीटर देसी शराब बिक गई। आबकारी विभाग का अनुमान है कि 31 मार्च 2023 तक यह आंकड़ा बढ़कर 14 करोड़ प्रूफ लीटर हो जाएगा। ऐसे में अगले साल 16 करोड़ प्रूफ लीटर शराब की खपत होने की उम्मीद है। आबकारी सूत्रों का कहना है कि पिछले साल 12 करोड़ प्रूफ लीटर देशी शराब की बिक्री का अनुमान था।

इसको ध्यान में रखते हुए सप्लाई के लिए 3-3 करोड़ प्रूफ लीटर सप्लाई का ठेका दिया गया था। यह ठेके 4 डिसलर्स ने लिए थे, Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band लेकिन शराब सस्ती होने के कारण डिमांड बढ़ गई, लेकिन डिसलर इसे समय पर पूरा नहीं कर पाए। ऐसी स्थिति अप्रैल-मई महीने में बन गई थी। इसे ध्यान में रखकर अब नया नियम प्रस्तावित किया गया है। बता दें कि प्रदेश में देशी शराब उत्पादन करने वाली 22 डिसलरीज हैं।

ये भी पढ़े  MP को मिली पहली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की सौगात PM मोदी बोले- हम संतुष्टीकरण में समर्पित

MP में देसी शराब उत्तर प्रदेश से महंगी

मध्यप्रदेश में देशी शराब उत्तर प्रदेश से महंगी है। 180 मिलिलीटर की साधारण शराब मध्यप्रदेश में 60 रुपए की मिलती है, जबकि उत्तर प्रदेश में यही 50 रुपए में मिलती है। वहीं, मसाला शराब एमपी में 80 रुपए और यूपी में 55 रुपए की है। रेगुलर श्रेणी की विदेशी शराब की एमआरपी मध्यप्रदेश में 150 रुपए से शुरू होती है। Cm Ka Faisla Mp Me Ahate Band छत्तीसगढ़ और यूपी जैसे राज्यों में यह 140 से 150 रुपए है। जबकि बीयर इन राज्यों से सस्ती है। मप्र में बीयर का न्यूनतम दाम 110 रुपए है। जबकि छत्तीसगढ़ में 120 रुपए है।

वाट्सऐप पर जुड़िये हमारे साथ

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर, जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरें, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी अलर्ट, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।
Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.