उज्जैन तड़कामप्र तड़का

हमारा घर हमारा विद्यालय अभियान के माध्यम से घर पर रहकर पढेंगे सरकारी स्कूल के विद्यार्थी

शिक्षकों ने पेरेंट्स के व्हाट्सएप ग्रुप बनाएं, दिन भर में कभी भी पढ़ सकते हैं बच्चे

उज्जैन। प्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों को कोरोना महामारी से सुरक्षित रखने के लिए संपूर्ण मध्यप्रदेश में हमारा घर हमारा विद्यालय अभियान 6 जुलाई से शुरू किया जाएगा। अभियान के तहत शिक्षक द्वारा स्कूल में पढ़ने वाले सभी बच्चों के पेरेंट्स के अलग-अलग कक्षा वार व्हाट्सएप ग्रुप बनाए गए हैं। प्रत्येक ग्रुप में यूट्यूब और अन्य माध्यमों से विद्यार्थियों को शिक्षा दी जाएगी। अभियान की खास बात यह है कि पेरेंट्स के माध्यम से विद्यार्थी कभी भी अपनी पढ़ाई पूरी कर सकेंगे।

कोरोना संक्रमण को देखते हुए फिलहाल सरकार ने सरकारी और निजी स्कूल खोलने के निर्णय पर कोई निर्णय नहीं लिया है। सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों की पढ़ाई लगातार जारी रहे इसके लिए स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा हमारा घर हमारा विद्यालय अभियान शुरू किया जाएगा। अभियान को तकनीकी भाषा के रूप में Digital Learning Enhancement program कहा जाता है। इस कार्यक्रम के माध्यम से स्कूलों के बंद होने की अवधि के दौरान शिक्षकों द्वारा व्हाट्सएप ग्रुप पर शिक्षा सामग्री को विद्यार्थियों के पेरेंट्स तक पहुंचाना है। व्हाट्सएप ग्रुप मेंं सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के पेरेंट्स भी शामिल रहेंगे। उनकी निगरानी में ही बच्चे कभी भी मोबाइल पर पढ़ाई कर सकते हैं। कक्षा वार बनाए गए गु्रप का संचालन स्कूल के शिक्षकों द्वारा किया जा रहा है। बच्चों की पढ़ाई से संबंधित सामग्री शिक्षकों द्वारा ही प्रत्येक दिन ग्रुप पर शेयर की जा रही है। व्हाट्सएप के माध्यम से हो रही पढ़ाई में किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर परेंट्स शिक्षक से कभी भी बात कर सकते है।

aducation

मोबाइल एप पर दिया गया प्रशिक्षण

गौरतलब है कि शिक्षा विभाग द्वारा व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से बच्चों तक शिक्षा पहुंचाने की बेहतरीन पहल के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। घर पर रहकर शिक्षा देने की इस मुहिम के लिए शिक्षा विभाग द्वारा शिक्षकों को दीक्षा मोबाइल एप के माध्यम से प्रशिक्षण भी दिया गया था। उक्त प्रशिक्षण चार भागों में दिया गया है। इन सब में महत्वपूर्ण बात यह है कि शिक्षकों ने भी अपने मोबाइल के माध्यम से ही बच्चों को व्हाट्सएप ग्रुप पर पढ़ाने के लिए प्रशिक्षण लिया है।

इस प्रकार होगी पढ़ाई

प्रधानाध्यापक श्रीराम टिपानिया ने बताया कि शिक्षा विभाग द्वारा दिए गए निदेर्शों के अनुसार प्रत्येक जन शिक्षा केंद्र में कक्षा पहली से आठवीं तक के लिए अलग-अलग व्हाट्सएप ग्रुप बनाए गए हैं। हर ग्रुप में शिक्षक का रहना अनिवार्य है। हर ग्रुप में शिक्षक द्वारा सुबह 11 बजे तक कक्षा वार शैक्षणिक सामग्री ग्रुप पर शेयर की जाएगी। जिसमें यूट्यूब वीडियो के माध्यम से बच्चों को कक्षा के अनुसार पढ़ाया जाएगा।

पेरेंट्स को दे रहे हैं जानकारी

इस संबंध में उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित हो चुके ग्राम हत्याखेड़ी विद्यालय के प्रधानाध्यापक श्रीराम टिपानिया और माध्यमिक विद्यालय के शिक्षक अभय कुमार नागर द्वारा विद्यार्थियों की सुविधा के लिए पिछले साल के पाठ्यक्रम का वितरण किया जा रहा है। इसके अलावा शिक्षकों द्वारा गांव मैं पेरेंट्स से मिलकर डीजी लेप एप के माध्यम से किस प्रकार पढ़ाई कराई जाए उसकी जानकारी भी दी जा रही है।

यह भी पढे…

कोरोना को हराकर ठीक हुए लोग पहुंचे अपने घर

MP में कमलनाथ ही कांग्रेस के खेवनहार, निभाएंगे दोहरी जिम्मेदारी

MP : मंत्रिमंडल विस्तार की खबर से गरमाई सियासत, विधायकों ने अपनी दावेदारी के लिए शुरू की जोर-आजमाइश
Tags

Related Articles

Back to top button
Close