उज्जैन तड़का

जिला प्रशासन ने ब्लैक फंगस से निपटने के लिए बनाया यह प्लान

-ईएनटी विशेषज्ञ करेंगे जांच, दो एंडोस्कोपी मशीन खरीदी जाएगी

मध्यप्रदेश के साथ-साथ उज्जैन में भी लगातार ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। सोमवार को ब्लैक फंगस से पीड़ित मरीज की मौत के बाद प्रशासन सतर्क हो गया है।

उज्जैन। Tue-18 May 2021

ब्लैक फंगस की पहचान एवं रोकथाम के लिए मंगलवार को कलेक्टर आशीष सिंह ने नाक कान गला विशेषज्ञ डॉक्टरों की बैठक ली तथा ब्लैक फंगस के मरीजों के उपचार के बारे में समीक्षा की। ब्लैक फंगस के मरीजों की पहचान के लिए कोरोना से ठीक हुए मरीजों का सर्वे किया जाएगा

कलेक्टर ने विशेषज्ञ डॉक्टरों से चर्चा करने के बाद निर्देश दिए कि 1 अप्रैल के बाद ऐसे कोरोना पॉजिटिव  मरीज जो ठीक हो कर घर गए हैं उनका टेलिफोनिक सर्वे किया जाएगा तथा उसे ब्लैक फंगस  के लक्षणों के बारे में चर्चा की जाएगी साथ ही फीवर सर्वे करने वाली टीम भी घर-घर जाकर परीक्षण करेगी। यदि सर्वे में किसी तरह के लक्षण पाए जाते हैं तो नाक कान गला विशेषज्ञ संबंधित मरीज के घर जाकर उनका परीक्षण करेंगे।

कलेक्टर ने नाक कान गला विशेषज्ञ डॉक्टर से अनुरोध किया है कि इस संबंध में प्रश्नोत्तरी एवं जागरूकता के लिए प्रचार मटेरियल तैयार करें जिससे लोग समय रहते उपचार करवा सकें। सभी निजी एवम शाशकीय अस्पताल को कहा गया है कि वे कोरोना पॉजिटिव मरीज की फंगस की प्राथमिक जांच करें। कलेक्टर ने माधव नगर एवं चरक अस्पताल में भर्ती मरीजों की नाक कान गले की एंडोस्कोपी जांच करने के लिए आवश्यक दो मशीनें तुरंत खरीदने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने ब्लैक  फंगस  के लिए जिला अस्पताल में ओपीडी प्रारंभ करने के लिए कहा है।

ये भी पढ़े  उज्जैन में भ्रष्टाचार- जिस सड़क पर थी 3 साल की गारंटी वो 2 महीने में उखड़ी

विशेषज्ञ चिकित्सकों ने कहा है कि अभी वर्तमान मेंआईसीयू में भर्ती सभी मरीजों के एंडोस्कोपिक जांच की जाना चाहिए जिससे कि फंगस को रोकने में सहायता मिले साथ ही उन्होंने ब्लैक  फंगस  के लिए आवश्यक दवाइयों की आपूर्ति निर्बाध करने का आग्रह किया। बैठक में नाक कान गला विशेषज्ञ डॉक्टर सुधाकर वैद्य, डॉ. टीएस  चौधरी  ने बताया कि ब्लैक फ़गस का खतरा कोरोना पॉजिटिव मरीज के ठीक होने के एक माह तक भी बना रहता है। इसलिए यदि किसी को नाक  में रुकावट, आंख आदि में सूजन आदि के लक्षण हो तो वे तुरंत चिकित्सक से पपरामर्श लें। 

बैठक में जानकारी दी गई कि वर्तमान में उज्जैन शहर में 58 ब्लैक फंगस  के मरीजों का उपचार चल रहा है। डॉ. वैद्य ने कहा कि कोरोना पॉजिटिव मरीजों एवं डायबिटीज मरीजों को इस पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि किसी भी स्थिति में मरीज की शुगर 200 से 250 सौ के बीच ही बनी रहना चाहिए। इसका विशेष ध्यान रखा जाए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से अंकित अस्थाना, यूडीए सीईओ एसएस रावत, सीएमएचओ डॉ. महावीर खंडेलवाल सिविल सर्जन डॉक्टर पीएन वर्मा एवं अन्य चिकित्सा अधिकारी मौजूद थे। 

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।
Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.