बिज़नेस

Drug Price Hikes 2022 अब जरूरी दवाएं हो जाएंगी महंगी, 1 अप्रैल से 10.7% बढ़ेंगे दाम

Drug Price Hikes 2022 साल 2013 के बाद सबसे बड़ी बढ़ोतरी, 2016 में काम हुई थी कीमतें

Drug Price Hikes 2022 आम लोगों को महंगाई का एक और झटका लगने वाला है. अब दवाओं के दाम बढ़ने वाले हैं, खबर है कि अगले महीने से जरूरी दवाओं के दाम बढ़ जाएंगे. दरअसल, भारत के ड्रग प्राइसिंग अथॉरिटी ने अनुसूचित दवाओं की कीमतों में 10.7 फीसदी की बढ़ोतरी की अनुमति दी है, जिसके बाद अब 800 से ज्यादा दवाओं के दाम बढ़ेंगे.

यह भी पढ़े…

इस वजह से महंगी होंगी दवाएं-drug price increases 2022

Drug Price Hikes 2022 खबरों के मुताबिक थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) में बढ़ोतरी से दवाएं महंगी होंगी। कहा गया है कि इनपुट कॉस्ट पर दबाव बढ़ गया है। देश में करीब 1.6 लाख करोड़ रुपये का फार्मास्युटिकल मार्केट है। इसमें अधिसूचित दवाओं की हिस्सेदारी 18 फीसदी है। इसे साल 2013 के बाद सबसे बड़ी बढ़ोतरी माना जा रहा है। हालांकि साल 2016 में भी कीमतों में कमी करनी पड़ी थी। अभी तक केवल 0.5 से 4 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी

दवा की कीमतें कैसे बदलती हैं?-medicare drug prices 2022

मूल्य निर्धारण प्राधिकरण द्वारा सोमवार को जारी कार्यालय ज्ञापन में कहा गया है, “जैसा कि आर्थिक सलाहकार (वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय) द्वारा पुष्टि की गई है, कैलेंडर वर्ष 2016 के दौरान थोक मूल्य सूचकांक (WPI) में वार्षिक परिवर्तन 2015 के समान है। ” 1.97186% अवधि की तुलना में। ड्रग प्राइस कंट्रोल ऑर्डर के मुताबिक दवा कंपनी के WPI में बदलाव के आधार पर रेगुलेटर जरूरी दवाओं के दाम में बदलाव करता है।

ये भी पढ़े  Petrol-Diesel Cheap 15 रुपए तक सस्ता होगा! पेट्रोल-डीजल वित्त मंत्री ने दिए संकेत

यह भी पढ़े…सरकार ने बनाया गैस सिलेंडर सब्सिडी का नया प्लान! इन लोगों के खाते में आएंगे पैसे

महंगी होने वाली हैं ये दवाएं-List of drug price increases 2022

महंगी दवाओं की सूची में एंटीबायोटिक्स, विटामिन, शुगर, ब्लड प्रेशर, बुखार, संक्रमण, हृदय रोग, उच्च रक्तचाप, त्वचा रोग और एनीमिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाले पदार्थ शामिल हैं। इसमें पेरासिटामोल, फेनोबार्बिटोन, फ़िनाइटोइन सोडियम, एज़िथ्रोमाइसिन, सिप्रोफ्लोक्सासिन हाइड्रोक्लोराइड और मेट्रोनिडाज़ोल जैसी दवाएं शामिल हैं। आपको बता दें, देश में अधिसूचित दवाओं की कीमत सरकार तय करती है। नेशनल फार्मास्युटिकल प्राइसिंग अथॉरिटी (एनपीपीए) 2013 के ड्रग प्राइस कंट्रोल ऑर्डर के दायरे में आने वाली दवाओं की कीमत तय करती है। एनपीपीए थोक मुद्रास्फीति को देखते हुए हर साल मार्च में बढ़ोतरी की अनुमति देता है।

बढ़ेगी लोगों की परेशानी-Medicare increase 2022 update

कोरोना काल के बाद कई लोग विभिन्न प्रकार की बीमारियों से पीड़ित हो चुके है। लॉकडाउन के कारण उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब हो गई है। ऐसे में बीमारी से पीड़ित लोग और परिजनों के सामने अब दवाओं की बड़ी हुई कीमतें ओर अधिक परेशानी खड़ी कर सकती है। कोरोना से पीड़ित होने के बाद कई लोगों में हृदय रोग, ब्लड प्रेसर सहित त्वचा रोग की बीमारी से पीड़ित है।

WhatsApp पर जुड़िए हमारे साथ

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर, जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरें, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी अलर्ट, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।
Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.