तड़का खास

Jaya Ekadashi Feb 2024: आज की एकादशी पर मिलेगा ऐसा आशीर्वाद पूरी होगी सभी इच्छाए, करें ये काम

Jaya Ekadashi Feb 2024: यह हर साल माघ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को रखा जाता है। हिंदू धर्म में जया एकादशी का विशेष महत्व है।

Jaya Ekadashi Feb 2024: पंचांग के अनुसार आज 20 फरवरी माघ मास की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि भी है। हालांकि कई लोगों को पता नहीं रहता है की ekadashi kab hai। इस एकादशी तिथि को जया एकादशी (ekadashi feb 2024) के नाम से जाना जाता है। इस खास मौके पर भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा की जाती है और व्रत रखा जाता है।

इस दिन कई शुभ-अशुभ योग बन रहे हैं। यह हर साल माघ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को रखा जाता है। हिंदू धर्म में जया एकादशी का विशेष महत्व है। जया एकादशी के दिन भगवान विष्णु की विधि-विधान से पूजा की जाती है।

ekadashi in feb 2024 इसके साथ ही इस दिन व्रत रखने की भी परंपरा है। ऐसा माना जाता है कि जो लोग ekadashi के दिन व्रत रखते हैं उन्हें सभी सुखों की प्राप्ति होती है। इसके अलावा भगवान विष्णु के आशीर्वाद से भक्त के जीवन से सभी नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं

और पिशाच योनि से मुक्ति मिल जाती है। ज्योतिष शास्त्र में एकादशी व्रत से जुड़े कुछ नियम बताए गए हैं, जिनका पालन करने से व्यक्ति को व्रत का फल जल्दी मिलता है। दोस्तों इस आर्टिकल पर आपकी क्या राय है हमें Leave a Reply पर कमेंट कर के जरूर बताए।

  • आज यानि 20 फरवरी 2024 को मंगलवार है।
  • आज का पंचांग (पंचांग 20 फरवरी 2024)

माघ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि समाप्त – प्रातः 09 बजकर 58 मिनट तक

Jaya Ekadashi 2024

  • नक्षत्र – आर्द्रा
  • ऋतु – सर्दी
  • शुभ समय
  • ब्रह्म मुहूर्त- 05:14 से 06:05 तक
  • विजय मुहूर्त- दोपहर 02:28 बजे से 03:13 बजे तक
  • गोधूलि बेला – शाम 06:12 बजे से शाम 06:37 बजे तक
  • अभिजीत मुहूर्त- दोपहर 12:12 बजे से 12:58 बजे तक
  • अशुभ समय
  • राहुकाल- दोपहर 03:24 बजे से शाम 04:49 बजे तक
  • गुलिक काल- 01:43 PM से 02:28 PM तक
  • कण्टक – प्रातः 07:40 से प्रातः 08:26 तक
  • दिशा शूल – पूर्व
ये भी पढ़े  उज्जैन चाइना डोर से युवती का गला कटा, तड़प तड़प कर निकल गई जान

अश्विनी, कृत्तिका, मृगशिरा, आर्द्रा, पुनर्वसु, पुष्य, मघा, उत्तरा फाल्गुनी, चित्रा, स्वाति, विशाखा, अनुराधा, मूल, उत्तराषाढ़ा, धनिष्ठा, शतभिषा, पूर्वाभाद्रपद, उत्तराभाद्रपद।

ताजा News और जानकारी पाने के लिए जुड़िए हमारे 👉 Whats App चैनल से क्लिक करें।

राशि चक्र के लिए सर्वोत्तम चंद्रबलम – मेष, मिथुन, सिंह, कन्या, धनु, मकर

  • सूर्योदय और सूर्यास्त का समय
  • सूर्योदय – प्रातः 06:55 बजे
  • सूर्यास्त- 06:14 बजे
  • चंद्रोदय – दोपहर 02:24 बजे
  • चंद्रास्त – प्रातः 05:03 बजे
  • चंद्र राशि – मिथुन

जया एकादशी कथा (Jaya Ekadashi Katha)

पौराणिक कथा के अनुसार, इंद्र के दरबार में एक उत्सव चल रहा था। उत्सव में देवता, संत, दिव्य पुरुष सभी उपस्थित थे। उस समय गंधर्व गीत गा रहे थे और गंधर्व कन्याएं नृत्य कर रही थीं। इन्हीं गंधर्वों में माल्यवान नाम का एक गंधर्व था जो बहुत मधुर गायन करता था।

उनकी आवाज उनकी खूबसूरती की तरह ही सुरीली थी. दूसरी ओर गंधर्व कन्याओं में पुष्यवती नाम की एक सुंदर नर्तकी भी थी। पुष्यवती और माल्यवान एक-दूसरे को देखकर अपनी सुध-बुध खो बैठते हैं और अपनी लय और ताल से भटक जाते हैं। उसके इस कृत्य से देवराज इंद्र क्रोधित हो जाते हैं और उसे श्राप देते हैं कि स्वर्ग से वंचित होकर तुम मृत्युलोक में पिशाच की तरह जीवन व्यतीत करोगे।

श्राप के प्रभाव से वे दोनों प्रेत योनि में चले गये और कष्ट भोगने लगे। पिशाच जीवन अत्यंत कष्टकारी था। दोनों बहुत दुखी थे। एक समय की बात है, माघ माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी का दिन था। पूरे दिन में दोनों ने सिर्फ एक बार ही फल खाया।

ये भी पढ़े  Delhi-NCR और UP में बारिश के चलते लुढ़केगा पारा! कड़ाके की ठंड के लिए रहें तैयार

वह रात को भगवान से प्रार्थना कर रहा था और अपने किये पर पश्चाताप कर रहा था। इसके बाद सुबह होते-होते दोनों की मौत हो गई। अनजाने में ही सही, उसने एकादशी का व्रत कर लिया और इसके प्रभाव से वह प्रेत योनि से मुक्त होकर पुनः स्वर्ग चला गया।

जया एकादशी पूजन विधि (Jaya Ekadashi Pujan Vidhi)

Jaya Ekadashi Pujan Vidhi

ekadashi 2024 सुबह स्नान के बाद सबसे पहले व्रत का संकल्प लें। इसके बाद पूजा में धूप, दीप, दीप, पंचामृत आदि ये सभी चीजें शामिल करें। इसके बाद श्री हरि विष्णु की मूर्ति स्थापित करें।

और उन्हें फल और फूल चढ़ाएं। और उन्हें फल और फूल चढ़ाएं। इसके साथ ही विष्णु सहस्त्रनाम का पाठ और ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय नमः मंत्र का जाप अवश्य करें।

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.