तड़का खास

Kendr Ne Gehu Ka Kota Ghataya PMGKAY | राशन कार्ड पर इस महीने से कम मिलेगा गेहूं -बदलें में मिलेगा ये अनाज

Kendr Ne Gehu Ka Kota Ghataya PMGKAY | मध्यप्रदेश सहित इन राज्यों का घटा दिया कोटा-जून से होगा बदलाव

Kendr Ne Gehu Ka Kota Ghataya PMGKAY के तहत केंद्र ने किया गेहूं का कोटा Centre Cuts Wheat Quota Under PMGKAY अगर आप भी राशन कार्ड धारक हैं तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। केंद्र सरकार ने Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana के तहत Gehu Ka Kota Kam Hua चावल का कोटा बढ़ा दिया है। यह बदलाव कई राज्यों और कुछ केंद्र शासित प्रदेशों में किया गया है। इससे राशन कार्ड धारकों को पहले के मुकाबले कम गेहूं मिलेगा।

ये भी पढ़े- कालीन भैया की पत्नी ने खोला राज-जल्द होगी लॉन्च

Kendr Ne Gehu Ka Kota Ghataya PMGKAY

गौरतलब है की केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (पीएमजीकेएवाई) के तहत मई से सितंबर तक आवंटित होने वाले गेहूं के कोटे को कम कर दिया है। इसके बाद पीएमजीकेएवाई के तहत तीन राज्यों बिहार, केरल और उत्तर प्रदेश में मुफ्त वितरण के लिए गेहूं नहीं दिया जाएगा। इसके अलावा दिल्ली, गुजरात, झारखंड, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तराखंड और पश्चिम बंगाल में गेहूं का कोटा कम किया गया है. बाकी 25 राज्यों के कोटे में कोई बदलाव नहीं किया गया है.

ये भी पढ़े- गैस सिलेंडर के दाम में लगी आग-50 रूपए बढ़ गए

Centre Cuts Wheat Quota Under PMGKAY

चावल से होगी भरपाई- केंद्र ने गेहूं का कोटा घटाया केंद्र की ओर से राज्यों को दी गई जानकारी में बताया गया, ‘मई से सितंबर तक के शेष 5 महीनों के लिए सभी 36 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के लिए चावल और गेहूं के पीएमकेजीएवाई आवंटन में बदलाव का फैसला किया गया है.’ खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्रालय ने कहा कि गेहूं के घटे हुए कोटे की भरपाई चावल से की जाएगी।

ये भी पढ़े  Railways में Sports Quota से शुरू हो रही Recruitment , आवेदन के लिए नोट कर लें आखिरी तारीख

काम हुई गेहूं की खरीद

राज्यों के लिए कोटा कम होने की वजह गेहूं की कम खरीद बताया जा रहा है। खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने कहा, ‘लगभग 55 लाख मीट्रिक टन चावल का अतिरिक्त आवंटन किया जाएगा, उतने ही गेहूं की बचत होगी.’ दो चरणों में सभी राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के साथ व्यापक विचार-विमर्श के बाद निर्णय लिया गया।

ये भी पढ़े- पेटीएम फ्री में दे रहा एलपीजी गैस सिलिंडर- जानिये कैसे करें बुक

अनुरोध पर होगा विचार

पांडे ने कहा कि यह संशोधन सिर्फ पीएमजीकेएवाई के लिए है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम-2013 के तहत आवंटन पर राज्यों से चर्चा चल रही है। उन्होंने यह भी कहा, ‘अगर कुछ राज्य एनएफएसए के तहत अधिक चावल लेना चाहते हैं, तो हम उनके अनुरोध पर विचार करेंगे।’

ये भी पढ़े- इन राशन कार्ड वालों पर होगी कार्रवाई-जानिए कारण

गेहूं की जगह मिलेगा चावल

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत उत्तराखंड में केंद्र सरकार द्वारा कम किए गए गेहूं का कोटा अब जून से राज्य में कम गेहूं और अधिक चावल दिया जाएगा। प्रदेश के 14 लाख राशन कार्ड धारकों को जून से प्रति यूनिट 3 किलो गेहूं की जगह 1 किलो गेहूं मिलेगा। जबकि चावल 2 किलो की जगह 4 किलो दिया जाएगा।

WhatsApp पर जुड़िए हमारे साथ

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर, जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरें, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी अलर्ट, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।
Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.