उज्जैन तड़का

महाकाल परिसर की खुदाई में मिला ऐसा कुछ, रह जाएंगे हैरान

-विक्रमादित्य काल की दीवार के अवशेष मिले, जांच के लिए आई टीम

महाकाल मंदिर परिसर विस्तारिकरण के लिए हो रही खुदाई में विक्रमादित्य काल की दीवार के अवशेष मिले है, जो 2100 साल पुराने बताए जा रहे है। अवशेषों की जांच के लिए भोपाल से पुरातत्व विभाग की टीम आई। अधिकारियों ने अवशेषों की गहन जांच भी की।

उज्जैन। Thu-03 Jun 2021

श्री महाकालेश्वर मंदिर परिसर में सोमवार को मिले अवशेषों को लेकर नया खुलासा हुआ है। खुदाई के दौरान मंदिर के दक्षिण क्षेत्र में प्राचीन मंदिर की दीवार दिखाई दी है। बताया गया है कि यह दीवार करीब 2100 साल पुरानी विक्रमादित्य काल की है। बुधवार को भोपाल से पुरातत्व विभाग के अधिकारियों ने यहां जांच की। अधिकारियों का कहना है कि मंदिर की खुदाई अब जानकारों की निगरानी में होना चाहिए। अब इसकी रिपोर्ट बनाकर संस्कृति मंत्रालय को सौंपेगी।

श्री महाकलेश्वर मंदिर का विस्तारीकरण किया जा रहा है। यहां विश्राम भवन बनना है। इस कारण पिछले एक साल से यहां खुदाई कार्य किया जा रहा है। पिछले साल दिसंबर 2020 में भी हजारों साल पुराने शिलालेख मिले थे। इसके बाद खुदाई का कार्य रोक दिया गया। फिलहाल श्री महाकलेश्वर मंदिर के अग्रभाग में कंट्रोल रूम के पास खुदाई की जा रही है। यहां खुदाई के दौरान सोमवार को माता की प्रतिमा मिली। संस्कृति विभाग ने पुरातत्व विभाग भोपाल से चार सदस्य टीम उज्जैन भेजी।

बुधवार को उज्जैन पहुंची टीम ने मंदिर के उत्तर भाग और दक्षिण भाग का निरीक्षण किया। टीम को लीड कर रहे पुरातत्वीय अधिकारी डॉ. रमेश यादव ने बताया कि 11वीं, 12वीं शताब्दी का मंदिर नीचे दबा है, जो उत्तर वाले भाग में है। वहीं, दक्षिण की ओर चार मीटर नीचे दीवार मिली है, जो करीब 2100 साल पुरानी हो सकती है। फिलहाल, टीम रिपोर्ट तैयार कर संस्कृति मंत्रालय को सौंपेगी।

ये भी पढ़े  कर्जदारों से परेशान युवक ने दीमक मारने की दवाई पी

7 साल से बंद रेलवे ट्रेक पर अभी नहीं दौड़ेगी ट्रेन

2100 साल पुराने

संस्कृति मंत्रालय के आदेश पर भोपाल संचालनालय पुरातत्व, अभिलेखागार एवं संग्रहालय के चार सदस्य डॉ. रमेश यादव ( पुरातत्वीय अधिकारी), डॉ. धुवेंद्र सिंह जोधा (शोध सहायक), योगेश पाल (पर्यवेक्षक) और डॉ. राजेश कुमार ने बुधवार को मंदिर में निरीक्षण किया। डॉ. यादव ने बताया, 12 शताब्दी का मंदिर दबा हुआ प्रतीत हो रहा है, जो कि मंदिर के उत्तर वाले भाग में स्थित है। 1100 वर्ष पुराने अवशेष दबे पाए गए। उसमें स्तंभ खंड, शिखर के भाग, रथ के भाग समेत अन्य स्थापत्य खंड मिले हैं। कुछ दिन पूर्व भी मंदिर की सरंचना प्रकाश में आई थी। खास बात है, दक्षिण की तरफ सरफेस से चार मीटर की गहराई पर एक दीवार के अवशेष मिले हैं जो कि विक्रमदित्य काल के हैं। करीब 2100 साल पुराने प्रतीत हो रहे हैं।

UJJAIN-गैस सिलेंडर से भरे ट्रक ने बाइक सवार को रौंदा

वन की खुदाई की जानी चाहिए

डॉ. रमेश यादव ने दावा किया कि खुदाई कार्य को जानकारों के निरीक्षण में करने की जरुरत है। यहां पुरातत्व के बड़े अवशेष भी मिल सकते है। हालांकि रिपोर्ट में मंत्रालय को पेश करेंगे। आने वाले दिनों में कार्य की रिकॉर्डिंग कराई जाएगी। इधर, भोपाल के रहने वाले भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के रिटायर्ड अधीक्षक डॉ. नारायण व्यास ने भी माना कि श्री महाकलेश्वर वन की खुदाई की जानी चाहिए। अभी जो साक्ष्य मिले, वो ईसा पूर्व हो सकते हैं। साइंटिफिक पद्धति से स्टडी करवाने की जरुरत है। श्री महाकलेश्वर मंदिर में वर्ल्ड हेरिटेड मॉन्यूमेंट्स भी मिल सकते हैं।

ये भी पढ़े  उज्जैन के इंजीनियर को निगल गया ताउते तूफान

एडवांस टेक्नॉलाजी की बोट से बचेगी डूब रहे लोगों की जान

एक सप्ताह में कोरोना से उद्योगपति पिता-पुत्र का निधन

उज्जैन के ठेकेदार को लाखों का चूना लगाकर भागी युवती

Video-हादसे में भाई-बहन की मौत, माता-पिता शव लेकर भागे  

वैक्सीनेशन में उज्जैन ने बताया रिकार्ड, इतने लोगों को वैक्सीन

अपनी इस गलती के कारण सांसद ने कटवाया खुद का चालन

महाकाल मंदिर में खुदाई के दौरान मिले प्राचिन मंदिर के अवशेष

अनलॉक से पहले कलेक्टर एवं एसपी ने ली बैठक, यह दिए निर्देश

स्वास्थ्य केन्द्र के डॉक्टर का फोटो वायरल, जांच के आदेश

नदी किनारे बन रही थी कच्ची शराब पुलिस ने मारी दबिश

बोहरा व्यापारी के घर सनसनी खेज चोरी की वारदात

रात में जब डॉक्टर के घर में घुसा सांप, इस तरह पकड़ा

डायग्नोस्टिक लैब पर अवैध वसूली, एसडीएम ने मारा छापा

शहर में बिक रही राजस्थान की टैट्रा पैक शराब

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।
Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.