मप्र तड़का

MP College Admission: कॉलेज में दाखिला लेने वाली बेटियों को मिलेंगे 25000 रु

भोपाल. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कॉलेज में दाखिला लेने वाली बेटियों को लाडली लक्ष्मी योजना के तहत अब 25,000 रूपये की राशि भी दी जाएगी. बालिका के जन्म के प्रति जनता में सकारात्मक सोच, लिंग अनुपात में सुधार, बालिकाओं की शैक्षणिक स्तर एवं स्वास्थ्य की स्थिति में सुधार तथा उनके अच्छे भविष्य की आधारशिला रखने के उद्देश्य से प्रदेश में एक अप्रैल 2007 में लाड़ली लक्ष्मी योजना शुरू की गई थी.

चौहान ने यहां लाड़ली लक्ष्मी उत्सव को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘कॉलेज में दाखिला लेने वाली लाड़ली लक्ष्मी बेटियों को 25,000 रूपये की राशि दी जाएगी. ’’ उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेटियों की शिक्षा, सुरक्षा, स्वास्थ्य-सुविधा, स्वावलंबन, समृद्धि और उनका सम्मान ही हमारी प्राथमिकता है. यह पूरे समाज की जिम्मेदारी है. नारी तुम केवल श्रद्धा हो, यह भाव अगर मजबूत होगा तो निश्चित तौर पर देश आगे बढ़ेगा.

बालिकाओं के आर्थिक सशक्तिकरण के लिए
चौहान ने कहा कि प्रदेश में बालिकाओं के आर्थिक सशक्तिकरण, उन्हें व्यावसायिक प्रशिक्षण देने और बैंक ऋण पर सरकार की तरफ से गारंटी देने का कार्य किया जाएगा. उच्च शिक्षा के लिए शिक्षण शुल्क की व्यवस्था भी की जाएगी. संगीत और चित्रकला जैसे क्षेत्रों में विकास के लिए हर संभव सहयोग प्रदान किया जाएगा.

अनाश्रित बेटियों को भी योजना के लाभ
उन्होंने कहा कि प्रदेश में माता-पिता के बिना, अनाश्रित स्थिति में मिली बेटियों को भी लाडली लक्ष्मी मानकर योजना के लाभ दिए जाएंगे. लाड़ली लक्ष्मी दिवस उत्सव के रूप में न सिर्फ राज्य स्तर पर बल्कि जिला, ब्लाक और ग्राम पंचायत स्तर पर मनाया जाएगा. कोशिश यह है कि मध्य प्रदेश की लाड़ली लक्ष्मी योजना पूरी दुनिया में आदर्श उदाहरण बन जाए.

प्रदेश की 21,550 लाडलियों के खातों में पैसे डाले
उन्होंने सिंगल क्लिक के माध्यम से ‘लाड़ली लक्ष्मी उत्सव’ में प्रदेश की 21,550 लाडलियों के खातों में 5.99 करोड़ रुपए की छात्रवृत्ति का अंतरण किया. चौहान ने बताया कि उन्होंने मजबूत संकल्प के साथ वर्ष 2007 से लाड़ली लक्ष्मी योजना का क्रियान्वयन प्रारंभ किया. इस योजना के अंतर्गत कन्या की आयु 21 वर्ष होने पर उन्हें अंतिम भुगतान एक लाख रूपये की राशि मिलने का प्रावधान है. इसके अलावा, उन्हें छात्रवृति भी दी जाती है.

उन्होंने कहा कि आज से 14 वर्ष पहले की छोटी-छोटी लाडली लक्ष्मियों का कक्षा 10वीं से 12वीं और महाविद्यालय में प्रवेश होते देखना प्रसन्नता का ही नहीं बल्कि जीवन को सफल और सार्थक होने की अनुभूति भी प्रदान करता है.

योजना देश भर में प्रशंसित है
चौहान ने कहा कि प्रदेश में वर्ष 2021-22 की छमाही में 1.31 लाख नई बालिकाओं का पंजीयन लाडली लक्ष्मी योजना में हुआ है. योजना शुरू होने से अब तक कक्षा 6, कक्षा 9, कक्षा 11 और कक्षा 12 में प्रवेश लेने वाली 6.62 लाख बालिकाओं को 185 करोड़ रूपये की छात्रवृत्ति प्रदान की जा चुकी है. योजना देश भर में प्रशंसित है और अनेक राज्यों ने इसे अपनाया है.
लाडलियों के कल्याण के लिए 47,200 करोड़ रूपये सुरक्षित
उन्होंने कहा, ‘‘राज्य सरकार ने लाडलियों के कल्याण के लिए 47,200 करोड़ रूपये सुरक्षित रख दिए हैं, जो समय-समय पर इन्हें मिलना है. भाव यही है कि बेटियाँ बोझ न बनें, वरदान बन जाएँ. यह केवल योजना नहीं है, समाज की दृष्टि बदलने का प्रयास है. ’’ (भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
Sarkari Naukri Result 2021: बिजली विभाग कर रहा असिस्टेंट अकाउंटेंट के पदों पर भर्तियां, जानें क्या मांगी गई है योग्यता
Sarkari Naukri 2021: लोक सेवा आयोग ने निकाली असिस्टेंट इंजीनियर के पदों पर नौकरियां, जानें डिटेल

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.


Source link

Related Articles

Back to top button

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.