उज्जैन तड़का

पीयूष भाई आप ऐसे तो न थे…सोशल मीडिया पर जता रहे दूख

मृतक भी उसी पूल से नदी में कुदा जहां से बड़े भाई ने की थी आत्महत्या

उज्जैन। Mon-12 Oct 2020

सूदखोरी के जाल में फंसे बड़े भाई की मौत के तीसरे दिन छोटे भाई पीयूष चौहान ने भी सोमवार सुबह शिप्रा में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। पीयूष समाजसेवा और पर्यावण के प्रति समर्पित था। यहीं कारण है कि उसके द्वारा आत्महत्या करने से शहर के कई लोग सकते में आ गए। कई लोगों ने सोशल मीडिया पर अपना दुख और सवेंदनाए जताई।

सोमवार सुबह करीब 10 बजे आकांक्षा परिसर निवासी पीयूष पिता बसंतीलाल चौहान ने नृसिंह घाट के पुल से शिप्रा में छलांग लगा कर आत्महत्या कर ली । करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद रेस्क्यू टीम ने शव को बाहर निकाला। शुक्रवार को उसके बड़े भाई मेडिकल संचालक प्रवीण चौहान ने इसी स्थान से नदी में कूदकर जान दे दी थी। प्रवीण ने सुसाइड लेटर में सूदखोरों से परेशान होकर जान देने की बात लिखी थी। सोमवार को पीयूष परिवार के अन्य सदस्यों के साथ सारी सोरने चक्र तीर्थ गया था। इसके बाद वह घर लौटा और फिर नृसिंह घाट के पुल पर एक्टिवा से अकेला पहुंच गया। यहां पर उसने फेसबुक पर दो पोस्ट डाली और फिर शिप्रा में छलांग लगा दी। सूचना पर पहुंची महाकाल थाना पुलिस ने गोताखोरों की मदद से शव को बाहर निकलवाया और पीएम के लिए जिला अस्पताल पहुंचाया।

media1

प्रवीण ने पीयूष को सौपी थी जिम्मेदारी

रविवार शाम को मृतक पीयूष ने फेसबुक पर सूदखोरों से बदला लेने संबंधी पोस्ट डाली थी। लेकिन सोमवार को नदी में उसी ने कूदकर आत्महत्या कर ली। पीयूष शादीशुदा था उसका एक बेटा है। जबकि उसके बड़े भाई प्रवीण की दो बेटियां हैं। मौत के पहले प्रवीण द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट में प्रवीण ने दोनों बेटी और परिवार की जिम्मेदारी पीयूष को सौंपी थी। पीयूष की माता का देहावसान 1 वर्ष पहले ही हुआ था।

sceen

सौदेबाजी में हुई धोखाधड़ी

पीयूष की मौत के बाद परिवार में अब उनके पिता व दो विधवा महिला और बच्चे शेष हैं। जिनकी जिम्मेदारी बूढे पिता के कमजोर कंधो पर है। प्रवीण ने सुसाइड लेटर में प्रॉपर्टी के सौदेबाजी में धोखाधड़ी से आहत होकर जान देने की बात लिखी थी। इसके लिए उसने राजेश सबलोक गिरधर मेडिकल और अंकित राठौर को जिम्मेदार बताया था। महाकाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

sceen2

मेरे पापा को ये जरूर कह देना

पीयूष ने भाई प्रवीण की मौत के बाद फेसबुक पर चार पोस्ट डाली थी। जिसमें से दो पोस्ट आत्महत्या से कुछ देर पहले ही डाली थी। जिसमें उसने अपने भाई के लिए लिखा था की भैया में उस राख के ढेर में तुझे ढंूढ रहा था, पर तु मुझे मिला नहीं, मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है अब क्या करना है, तु मेको बता दे यार अब क्या करना है, में तुझसे पूछने आ रहा हूं। दूसरी पोस्ट में लिखा मेरे पापा को ये जरूर कह देना की सोनू और पीयूष गए है व्यवस्था करने, दादी और मम्मी से बात कर के बता देंगे, फिर आप आ जाना।

5 सूदखोरों पर इनाम घोषित

उज्जैन एसपी मनोजसिंह ने सूदखोरों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 5 सूदखोरों की गिरफ्तारी पर 5-5 हजार रुपए के इनाम की घोषणा की है। जिन लोगों की गिरफ्तारी पर इनाम घोषित किया गया है। उनमें भाजपा मंडल अध्यक्ष दिग्विजयसिंह चौहान, अतुल गेहलात, रणदीपसिंह मंकड़, समीर फायनेंस कंपनी वाला और विजय पटेल निवासी महू बताए जा रहे है।

यह भी पढे…

पत्नी के प्रेमी का हत्यारा ओमकारेश्वर में बेच रहा था अगरबत्ती

Ujjain-ढांचा भवन के समीप युवती के गले से झपटी सोने की चेन

अब रावण दहन भी होगा ऑनलाइन, घर बैठे देखना होगा प्रसारण

मेडिकल संचालक ने शिप्रा नदी में कूदकर की आत्महत्या

Ujjain- महिला को घर में घुसकर चाकू मारे, वीडियों देखें…

जमानत कराने आए युवक की मौत, पुलिस पर लगे मारपीट के आरोप

कोट मोहल्ला से पकड़ाया IPL का सट्टा, लाखों का हिसाब मिला

इस्कॉन मंदिर के पीछे वृद्ध की हत्या, बेटे को मारने आए थे आरोपी

रास्ते से निकलने के विवाद में सगे भाई की हत्या

Ujjain-बेकाबू सांड ने वृद्ध को मार डाला, 4 को किया घायल

उज्जैन-नानाखेड़ा बस स्टैंड पर गुंडागर्दी, मारपीट का वीडियो वायरल

Tags

Related Articles

Back to top button
Close