उज्जैन तड़का

कैसे कम करें मेलानिन, आखिर क्यों हो जाते है चेहरे पर काले धब्बे

कैसे कम करें मेलानिन, चेहरे से काले धब्बों को हटाने का अचुक उपाए, आज ही करें ट्राय

कैसे कम करें मेलानिन -अधिकतर भारतीय लोगों की त्वाचा का रंग सांवला होता है। लेकिन कुछ लोगों की त्वचा का गौरा और साफ भी होता है। जलवायू के हिसाब से दोनों ही रंग त्वचा के ही होते है। लेकिन आपकी त्वचा जिस भी रंग की हो उसमें एक प्राकृतिक रंगद्रव्य होता है। जिसे मेलानिन कहते है। यहीं मेलानिन तय करता है कि आपकी त्वचा का रंग क्या होगा। शरीर में मेलानिन की अधिक मात्रा से त्वचा का रंग सांवला होता है। जबकि इसकी मात्रा कम कर दी जाए तो रंग गौर और साफ दिखाई देने लगता है।

मेलानिन का कार्य

कैसे कम करें मेलानिन– मेलानिन सूर्य की किरणों में मौजूद हानिकारक पराबैंगनीय विकिरणों से त्वचा की रक्षा करता है। हानिकारक पराबैंगनीय विकिरण हमारी त्वचा पर झुर्रियां ला सकती है तथा इससे केंसर भी हो सकता है। ठंडे प्रदेशों मेंं रहने वाले लोगों में मेलानिन कम होता है। लेकिन गर्म प्रदेशों के लोगों में शरीर की रक्षा के लिए मेलानिन उनके शरीर में अधिक होता है। इससे शरीर पर पड़ने वाली 99.9 प्रतिशत पराबैंगनीय विकिरण मेलानिन द्वारा रोक दी जाती है।

कैसे कम करें मेलानिन, आखिर क्यों हो जाते है चेहरे पर काले धब्बे

मेलानिन कम हो तो…

अब यदि मेलानिन शरीर कम हो तो आंखों का रंग हरा, नीला बालों का रंग सुनेहरा तथा त्वचा का रंग सफेद होगा। हमारी त्वचा में मेलानिन का उत्पादन कई रासायनिक क्रियाओं के बाद होता है। त्वचा के अंदर मौजूद मेलेनोसाइट्स कोशिकाओं में इसके बनने की प्रक्रिया पूरी होती है। हर व्यक्ति के शरीर में मेलेनोसाइट्स की संख्या बराबर होती है। लेकिन सभी के शरीर के अंदर मेलानिन का उत्पादन अधिक ओर कुछ लोगों में कम होता है। मेलानिन का असर ज्यादा गोरी त्वचा में कम और सांवली त्वचा में अधिक दिखाई पड़ता है। जब मेलानिन तेजी से बढ़ने लगता है तो त्वचा पर झांइयां (स्किन पीगमेंटेशन) की समस्या होने लगती है। जिसके कारण चेहरे पर काले धब्बे दिखाई देनें लगते है।

ये भी पढ़े  UJJAIN-शराब के नशे मे प्रधान आरक्षक ने मचाया हंगामा

कैसे कम करें मेलानिन, आखिर क्यों हो जाते है चेहरे पर काले धब्बे

ऐसे करें चेहरे की देखभाल

त्वचा की जितनी देखभाल करेंगे, मेलानिन का उत्पादन उतना ही कम होगा और आपकी त्वचा का रंग उतना ही निखरा हुआ होगा।
इसके लिए आप सूर्य की हानिकारक किरणों से अधिक से अधिक बचें। अपने चेहरे को और बांजुओं को ढक कर रखें। इसी के साथ जब भी धुप में जाएं तो सनस्क्रीन लगाएं।

कैसे कम करें मेलानिन, आखिर क्यों हो जाते है चेहरे पर काले धब्बे

सनस्क्रीन का प्रयोग करें

सनस्क्रीन को हिन्दी में धूपरोधी या धूप ताम्र लोशन भी कहा जाता है, जो कि आपकी त्वचा को हानिकारक पराबैंगनीय विकिरणों से बचाता है अर्थात यह त्वचा का एक रक्षा आवरण है। सनस्क्रीन अलग-अलग प्रकार की होती है। उनका एसपीएफ (सन प्रोटेक्शन फेक्टर) भी अलग-अलग होता है। हर व्यक्ति की त्वचा के लिए अलग एसपीएफ की सनस्क्रीन होती है। जिसकी जानकारी हमें होना चाहिए आम तोर पर डॉक्टर की सलाह यही रहती है कि 15 एसपीएफ की सनस्क्रीन त्वचा पर लगाना बेहतर है। लेकिन बड़ती गर्मी और प्रदूषण के दौरान एसपीएफ 15 से एसपीएफ 30 वाले सनस्क्रीन अधिक प्रभावी होते है।

एसपीएफ 60 से 70 तक के सनस्क्रीन होते है। जिसमें एसपीएफ की मात्रा जितनी अधिक होगी त्वचा को पराबैंगनीय विकिरणों से होने वाला नुकसान उतना कम होगा। उधारण के लिए मान लिजिए की अगर आपके सनस्क्रीन में एसपीएफ की मात्रा 15 है और आप इसे लगाकर धूप में निकले है तो आपकों 15 गुना अधिक प्रोटेक्शन मिलेगा। यदि आप धूप में बिना किसी प्रोटेक्शन के निकल गए है तो आपकी त्वचा झुलसनें की आशंका 15 गुना तक बड़ जाएगी।

कैसे कम करें मेलानिन, आखिर क्यों हो जाते है चेहरे पर काले धब्बे

घरेलू फेसपेक का करें उपयोग

आप अपनी त्वचा को स्वस्थ्य बनाए रखने के लिए घर पर बने फेसपेक का उपयोग करें। हल्दी, गुलाब जल, बेसन, दूध, मुलतानी मिट्टी इनसे बने फेसपेक का प्रयोग अपनी त्वचा पर करें। इसके उपयोग से आपकी त्वचा में कालापन कम करने के साथ ही उसे धूप से हुए नुकसान को कम करनें में भी आपकी मदद करतें है।

ये भी पढ़े  यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की धमाकेदार एंट्री, महाकाल मंदिर में किये दर्शन-VIDEO

कैसे कम करें मेलानिन, आखिर क्यों हो जाते है चेहरे पर काले धब्बे

न होने दें पानी की कमी

त्वचा को स्वस्थ्य रखने के लिए हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हमारी शरीर में पानी की कम न हो। सबसे पहले तो यह जरूरी है कि आप शरीर और त्वचा में पानी की कमी न होने दें। इसके लिए आप पानी अधिक पीए। एक वयस्क व्यक्ति को दिन में कम से कम 7 से 8 गिलास पानी का सेवन करना चाहिए। तेज धूप में रहने के दौरान आप नारियल पानी, नींबू पानी, ग्लूकोज, इलेक्ट्रॉल घोल, लस्सी, गन्ने का रस, फलों का रस, छांछ आदी का सेवन अवश्यक करें। इससे आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होगी। इसके साथ ही आप अपने शरीर को कवर करके रखें, ताकि डिहाइड्रेशन कम से कम हो।

यह आर्टिकल thetadkanews.com के लिए श्रद्धा भारती द्वारा लिखा गया है…ऐसी ही उपयोगी जानकारी के लिए फोलो करें फेसबुक पेज और युट्यूब चेनल

पढ़ते रहे thetadkanews.com देखें खबरे हमारे यूट्यूब चैनल The Tadka News पर जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड की खबरों की अपडेट Whats app ग्रुप और Telegram ग्रुप पर पाए, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी, सरकारी योजनाएं, सरकारी नौकरी का अलर्ट हमारे, जुड़िये हमारे फेसबुक Tadka News पेज से…

Deepak Bharti

मैं दीपक भारती thetadkanews.com हिन्दी News वेब पोर्टल का Founder हूं, BA और MA in Mass Communication की पढ़ाई के बाद मैने साल 2008 में पत्रकारिता के क्षेत्र में कदम रखा। मैने शुरूआती दिनों में सांध्य दैनिक News Today, Agniban, Akshar Vishwa, Dainik Swadesh में रिपोर्टर और वर्तमान में Dainik Dabang Dunia में सनियर रिपोर्टर के रूप में काम कर रहा हूं। मैने पत्रकारिता को एक मिशन के रूप में लिया है। बदलती दुनिया पत्रकारिता भी डिजिटल स्वरूप में आ गई हैं। मेरा यह प्रयास रहता है कि खबर जैसी है वैसी ही उसके पाठकों तक पहुंचना चाहिए। ताकि वह उसके हर पहलू को समझ सकें।
Back to top button
मृदुल मधोक यूट्यूब कैसे कमा रहे करोड़ो FASTag वालों के लिए खास खबर, अभी देखें सड़क पर दौड़ेगी jawa 350 bike, यह है कीमत मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने उज्जैन में गाये राम भजन

Adblock Detected

Please uninstall adblocker from your browser.