उज्जैन तड़का

देशमुख अस्पताल से हो रही थी रेमडेसिविर की कालाबाजारी

आईसीयू में भर्ती मरीजों को लगने वाले इंजेक्शन आरडी गार्डी के नर्सिंग छात्रों को देते थे बेचने के लिए

उज्जैन। Sun-25 Apr 2021

कोरोना काल में जिस रेमडेसिविर इंजेक्शन के आभाव में लोगों की जान जा रही है, उसी इंजेक्शन की कालाबाजारी देशमुख अस्पताल से की जा रही थी। आईसीयू में भर्ती मरीजों को इंजेक्शन लगाने के नाम पर उनके परिजन जैसे-तैसे महंगे दामों में इंजेक्शन लेकर आते लेकिन उन्हें क्या पता कि अंदर मौजूद अस्पताल के कर्मचारी मरीजों को इंजेक्शन लगाने की बजाय उसकी कालाबाजारी कर हजारों रूपए रोज कमा रहे है। देशमुख अस्पताल से चल रही कालाबाजारी के मामले में पुलिस ने देशमुख अस्पताल के तीन कर्मचारियों सहित आरर्डीगार्डी नर्सिंग कालेज के पांच छात्रों को गिरफ्तार किया है। जिनके पास से रेमडेसिविर इंजेक्शन भी बरामद किये गये है।

कोरोना मरीजों को गंभीर हालत में दिए जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना लगातार पुलिस और प्रशासन को मिल रही थी। जिसके बाद पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए अपने मुखबिर सक्रिय किए थे। पुलिस ने 8 आरोपियों को दबोचा है। जिसमें से तीन नानाखेड़ा स्थित देशमुख अस्पताल के कर्मचारी है। तीनों कर्मचारी अस्पताल के आईसीयू में पदस्थ थे। अस्पताल में कोरोना संक्रमित गंभीर मरीजों को लगाए जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन उन्हे न लगाकर अपने पास रख लेते थे। इसके बाद मोटी रकम लेकर उक्त इंजेक्शन बेच दिए जाते थे। आरोपियों ने अभी तक 20-30 इंजेक्शन बेच चुके है।

गिरोह बनाकर बेच रहे थे इंजेक्शन

सायबर सेल और चिमनगंज पुलिस ने आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के नर्सिंग के छात्र लोकेश पिता श्यामलाल आंजना 22 साल निवासी ग्राम बटवडी थाना अकोदिया जिला शाजापुर, भानु प्रताप पिता रघुवीर सिंह राजपूत 19 साल निवासी ग्राम पांदा थाना टोंकखुर्द जिला देवास दोनों का हाल मुकाम एलाउंस सिटी आगर रोड, प्रियेश पिता विनोद चौहान 21 साल निवासी मिशन कम्पाउण्ड देवास रोड को गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी तीनों आरोपियों के कब्जे से 1 रेमडेसिविर और एक एक्टिवा जब्त की। इनकी निशानदेही से पुलिस ने वैभव पिता विजय पांचाल 19 साल निवासी महिदपुर रोड हरीओम पिता शांतिलाल आंजना उम्र 19 साल निवासी ग्राम पुलायखोर्द अकोदिया के पास सुन्दरसी जिला शाजापुर दोनो का हाल मुकाम एलाउंस सिटी आगर रोड को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक रेमडेसिविर और एक एंटी बायोटिक इंजेक्शन जब्त किया गया।

अस्पताल के पंखे से मरीज को लग रहा डर-जानिए कारण

आईसीयू से चल रहा था रैकेट

देशमुख अस्पताल आईसीयू में पदस्थ सरफराज शाह पिता शहीद शाह 22 साल निवासी टोककला जिला देवास हालमुकाम देशमुख अस्पताल के सामने, कुलदिप पिता सुनील चौहान 22 साल निवासी पिपलोदा उन्हेल थाना बिरलाग्राम हाल मुकाम एलाउंस सिटी और राजेश पिता जयराम नरवरिया उम्र 25 साल निवासी हामुखेड़ी देवास रोड थाना नागझिरी द्वारा अस्पताल में भर्ती मरीजों के परिजनों से इंजेक्शन लेकर अंदर इंजेक्शन नहीं लगाए जाते थे। उक्त इंजेक्शन को बाले-बाले अन्य आरोपियों को बेच दिए जाते थे। इसके बाद अन्य 5 आरोपी उक्त इंजेक्शनों को 25 से 30 हजार रुपए में जरूरतमंदों को बेच देते थे।

बहन की लाश लेकर थाने पहुंंचा भाई, लगाया हत्या का आरोप

ग्राहक बनकर पहुंची पुलिस

शहर में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना के बाद पुलिस लगातार आरोपियों की तलाश में जुटी हुई थी। इसी दौरान पुलिस को मेडिकल कॉलेज के छात्रों द्वारा इंजेक्शन बेचे जाने की सूचना मिली। इसके बाद पुलिस ने जाल बिछाया और एक पुलिसकर्मी ग्राहक बनकर लोकेश, प्रितेश और भानु प्रताप के पास पहुंची। आरोपियों को शंका न हो इसके लिए पुलिस ने बकायदा डॉक्टरों के पर्चे भी बनवाए। आरोपियों ने मोबाइल पर पुलिस से पर्चे भी लिए इसके बाद जब उन्हे संतोष हो गया तो उन्होने इंजेक्शन का सौदा पुलिस से किया।

मेडिकल कॉलेज में मृतक के परिजन और डॉक्टर के बीच मारपीट

इनकी रही महत्वपूर्ण भूमिका

कोतवाली सीएसपी अश्विन नेगी, चिमनगंज थाना प्रभारी अजीत तिवारी, एसआई रवीन्द्र कटारे, एसआई यादवेन्द्र सिंह परिहार, प्रधान आरक्षक दिनेश सिंह, आरक्षक शैलेष योगी, श्यामबरण और सायबर सेल प्रभारी विक्रम सिंह चौहान, प्रधान आरक्षक सोमेन्द्र दुवे, प्रवीण चौहान, कन्हैया शर्मा, राजपाल सिंह, आरक्षक कुलदीप, जितेन्द्र पाटीदार, निकिता रावत एवं सैनिक सुनील ठाकुर की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

गुड न्यूज- उज्जैन के PTS में शुरू होगा 100 बेड का कोविड केयर सेन्टर

शांतिदूत पर दे सूचना

शहर की आम जनता से अपील की जा रही है की कोरोना संक्रमण के उपचार हेतु रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना प्राप्त हो या किसी व्यक्ति द्वारा इंजेक्शन को निर्धारित दामों से बढ़ा चढ़ाकर, स्टॉक कर बेचा जा रहा हो, या ब्लैक मार्केटिंग की जा रही हो तो उक्त प्रकार की अवैध गतिविधियों से संबंधित सूचना शांतिदूत मोबाइल नंबर 7049119001 पर दे सूचना देने वाले व्यक्ति का नाम पूर्णत गुप्त रखा जाएगा।

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले 8 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के कब्जे से 3 रेमडेसिविर और 2 एंटी बायोटिक इंजेक्शन सहित एक एक्टिवा जब्त की गई है। सभी आरोपी नर्सिंग के है।

सत्येन्द्र कुमार शुक्ल, पुलिस अधीक्षक

 

Ujjain-रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी रोकेगी पुलिस

कोरोना इफेक्ट-बिना बैण्ड-बाजा और बारात के होगी शादी

सरपंच के खेत से पकड़ाई अवैध शराब बनाने की फैक्ट्री

उज्जैन में एक बार फिर बड़ा लॉकडाउन

Ujjain-अंधविश्वास-झाड़ फूंक से कर रहा था बुखार का इलाज

सीएसपी ने बाइक सवारों को पकड़ा, लगवाई उठक-बैठक

Ujjain-बीमार को ले जा रही कार को रोका, अस्पताल में मौत

उज्जैन में लगा 19 अप्रैल तक लॉकडाउन

UJJAIN-लॉकडाउन लगते ही शहर में चली गोली 

कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर होगी कार्रवाई

Tags

Related Articles

Back to top button
Close