उज्जैन तड़का

पत्थरबाजों पर कार्रवाई- प्रशासन और पुलिस की टीम पहुंची मकान तोड़ने

पूरे क्षेत्र में लगाई धारा 144, भारी पुलिस बल तैनात

उज्जैन। Sat-26 Dec 2020

उज्जैन में उपद्रव करने वालों के खिलाफ पुलिस और जिला प्रशासन  सख्त हो गया है। शुक्रवार को जिन मकानों से पथराव हुआ था उनका अवैध अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शनिवार दोपहर में शुरू की गई। पत्थरबाजों ने जिन घरों से पत्थर चलाए थे, उन्हें चिन्हित कर लिया गया है। इन सभी मकानों को तोड़ा जाएगा। 

शनिवार दोपहर प्रशासन ने ऐसे पत्थरबाजों के घरों को जमींदोज करने की कार्रवाई शुरू कर दी है । ने मौके पर पहुंचकर पत्थरबाजों के मकानों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। सबसे पहले दोपहर 1 बजे बेगमबाग इलाके में बने टीकाराम के मकान को तोड़ा जा रहा है। इसमें रेहानापति नुरू किराए से रहती है। वहीं, अब्दुल हमीद के मकान पर भी कार्रवाई की जा रही है। इसमें हिना पति शहजाद किराएदार हैं। दोनों के ही पत्थर फेंकते हुए वीडियो वायरल हुए थे। प्रशासन का तर्क है कि ये मकान नाले किनारे बने हैं। लोगों ने यहां अतिक्रमण कर लिया है। 

पत्थरबाजों पर लगेगी रासुका

आधा दर्जन के करीब उपद्रवियों पर रासुका के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल भेजा जाएगा । गौरतलब है कि वर्ष 2015 में भी मामूली से विवाद में समुदाय विशेष के लोगों ने शहर की कानून – व्यवस्था बिगाड़ दी थी। करीब 15 दिनों तक लोग सांसत में रहे थे।

पहले भी हो चुकी है सख्त कार्रवाई

तत्कालीन कलेक्टर कवींद्र कियावत और एसपी अनुराग ने उपद्रवियों पर सख्त कार्रवाई की थी। कई उपद्रवी महीनों जेल में रहे । इधर, उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह कहना था कि असामाजिक तत्वों ने उपद्रव के माध्यम से शहर का माहौल खराब करने का प्रयास किया है। उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। शुक्रवार की घटना के बाद सख्त कार्रवाई की तैयारी कर ली गई है । पूरी तैयारी के साथ जिन मकानों की छतों पत्थर बरसे हैं उन्हें भी ध्वस्त करेंगे, ताकि इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति न हो।

विरोध करने पहुंचे तो दी समझाइश

पथराव करने वाले घरों को चिन्हित कर उन्हें तोड़ने की कार्रवाई करने पहुंची नगर निगम की टीम और पुलिस अधिकारियों के सामने कुछ लोग विरोध करने पहुंच गए थे। लेकिन एसडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी ए एस पी अमरेंद्र सिंह ने विरोध कर रहे लोगों को समझाइश देकर रवाना किया।

Tags

Related Articles

Back to top button
the tadka news
Close